Duniya Ke Saat Ajoobe With Images – Seven Wonders

Duniya ke Saat Ajoobe : नमस्कार दोस्तों आजकी पोस्ट में हम आपको दुनिया के सात अजूबे कौन – कौन से है ये बताएँगे और साथ ही उनके फोटो भी शेयर करेंगे अगर आप ये जानकारी हासिल करना चाहते हो तोह इस लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़ें।

दुनिया के सात अजूबे

दुनिया में आज भी बहुत से ऐसे लोग हैं जिनके 7 Ajoobe के बारे में पता नहीं हैं इसलिए आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की विश्व के साथ अजूबे प्राचीन काल से ही चुने जा रहे हैं लगभग 2200 साल पहले 7 Wonders of the World को चुनने का विचार कल्लिमचुस और हेरोडोटस को आया था इनहि दोनों ने उस समय के प्राचीन 7 Ajoobe चुने थे उनकी सूची मे नीचे शेयर कर रहा हूँ।

  • The Great Pyramid of Giza
  • Hanging Garden of Babylon
  • Statue of Zeus at Olympia
  • Temple of Artemis
  • Mausoleum at Halicarnassus
  • Colossus of Rhodes
  • Lighthouse of Alexandria

तोह दोस्तों ये थे प्राचीन काल के सात अजूबे जिनमे अब सिर्फ The Great Pyramid of Giza बचा है बाकी सारे अजूबे नष्ट हो चुके हैं।

अभी तक आपने जाना पुराने समय के अजूबों के बारे में आइये अब हम आपको बताते हैं की नए अजूबे कब और कैसे चुने गए

दुनिया के 7 नए अजूबे कब और कैसे चुने गए

दुनिया में 7 अजूबे चुनने का विचार प्राचीन में चुने गए अजूबों के लगभग 2150 साल बाद दोवारा से 1999 में आया था इसकी पहल स्विट्ज़रलैंड द्वारा की गयी थी।

दुनिया के साथ अजूबे चुनने के लिए एक फाउंडेशन बनाया गया था साथ ही एक साइट भी बनवायी गयी गयी थी जिसपर पूरे विश्व की 200 से ज्यादा इमारतों की एक सूची अपलोड की गयी थी और उनपर एक पोल रखा गया था जिसमे 7 एंट्री चुनने को कहा गया था उसपर लगभग 100 मिलियन से भी ज्यादा लोगों ने वोट किया उस वोटिंग को 6 साल लगातार चलने दिया गया और 2007 में लोगों के द्वारा वोट किये गए 7 नए अजूबे चुने गए।

आइये उन Duniya ke saat ajoobe के बारे में जान लेते हैं

दुनिया के साथ अजूबे (Seven Wonders of The World)

  1. ताज महल (Taj Mahal)
  2. चीन की दीवार (Great Wall of China)
  3. पेट्रा (Petra)
  4. क्राइस्ट रिडीमर (Christ The Redeamer)
  5. माचु पिच्चु (Machu Picchu)
  6. कोलोजियम (Colozeum)
  7. चिचेन इट्ज़ा (Chichen Itza)

चलिए दोस्तों अब एक – एक करके हम आपको सभी अजूबों के बारे में विस्तार से बताएँगे और साथ ही हर अजूबे का फोटो भी शेयर करेंगे।

1. ताजमहल (Taj Mahal)

taj mahal agra दुनिया के सात अजूबे

हमारे भारत देश में स्थित ताजमहल दुनिया की सबसे खूबसूरत इमारत है इसलिए इसका नाम सात अजूबों में शामिल है। ताजमहल का निर्माण 1632 में मुग़ल बादशाह शाहजहां द्वारा करवाया गया था इसको तैयार होने में करीब 15 साल से ज्यादा समय लगा था बताया जाता है की ताजमहल को बादशाह ने अपनी पत्नी मुमताज़ के लिए बनवाया था। इस खूबसूरत इमारत को बनवाने के लिए पूरी दुनियाभर से संगमरमर का सफ़ेद पत्थर मंगवाया गया था। इसको ख़ूबसूरती की वजह ये है की ये बिलकुल प्योर सफ़ेद संगेमरमर से बना हुआ है। ताजमहल को देखने के लिए देश विदेश से बहुत से लोग आते रहते हैं इसके चारों और बहुत ही खूबसूरत बगीचा बना हुआ है।

2. चीन की दीवार (Great Wall of China)

great wall of china दुनिया के सात अजूबे

चीन की दीवार एक बहुत ही विशाल दीवार है बताया जाता है की इसपर बैठे या चल रहे लोगों का ढांचा अंतरिक्ष से भी दिखाई देता है इस दीवार का निर्माण विभिन्न शाशकों ने उत्तरी हमलावरों से बचाव के लिए करवाया था शुरुआत में ये दीवार छोटी थी लेकिन लगभग 16वीं शताब्दी आने तक ये एक विशाल दीवार बन चुकी थी इसका निर्माण 5वीं शताब्दी से लेकर 16वीं शताब्दी तक किया गया था। आपको जानकार बहुत ही हैरानी होगी की ये दीवार पूर्वी चीन से लेकर पश्चमी चीन तक फैली ही है।

चीन की दीवार करीब 35 फिट ऊँची है, 6400 km लम्बी है और इसकी चौड़ाई इतनी ज्यादा है की एक साथ 10 से भी ज्यादा लोग इसपर चल सकते हैं. ये कोई मामूली दीवार नहीं है इसको बनाने के लिए ईंट, लकड़ी, पत्थर और मिटटी आदि का प्रयोग किया गया था अथवा इसको बनाने में लगभग 25 से 30 लाख लोग अपना पूरा जीवन लगा चुके हैं।

3. Petra (पेट्रा जॉर्डन)

petra jordan duniya ke saat ajbe

पेत्रा एक ऐतिहासिक नगरी है ये म’आन प्रान्त में स्थित है इसका नाम भी सात अजूबों में शामिल है साथ ही इसको यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर होने का दर्जा भी मिला हुआ है। पेत्रा जॉर्डन अपने आधे निर्मित और आधी चट्टान में तराशे जाने की वजह से पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। ये नगरी लाल पत्थरों से बनी हुई है इसलिए इसको Rose City भी कहा जाता है। रीसर्च के अनुसार हमे पता चला की इसका निर्माण 312 ईसा पूर्व में हुआ था। आजके ज़माने में पेत्रा को एक मशहूर पर्यटन स्थल माना जाता है आपको बता दूँ की ये एक मुख्य रूप से नावतीयन नामक प्राचीन लोगों द्वारा बनायीं गयी बस्ती है।

4. क्राइस्ट रिडीमर (Christ the Redeamer) – Rio De Janeiro

christ redeamer

क्राइस्ट रिडीमर दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ती मानी जाती है ये ईसा मसीह की प्रतिमा है जो ब्राज़ील के रिओ डी जेनेरो शहर में स्थापित है आपको बता दूँ की की ये मूर्ती तिजूका फारेस्ट नेशनल पार्क में कोर्कोवाडो पर्वत की छोटी पर स्थित है बताया जाता है की इस मूर्ती का वजन करीब 635 टन है इसकी कुल चौड़ाई 98 फिट और ऊँचाई 130 फिट है। रिसर्च करने के बाद हमे पता चला की इस मूर्ती को ब्राज़ील की सिल्वा कोस्टा ने डिज़ाइन किया था और इसको बनाने के लिए फ्रेंच के महान मूर्ती कलाकार लेनदोव्सकी को बुलाया गया था उन्होंने इस खूबसूरत मूर्ती को बनाकर तैयार किया था।

5. माचु पिच्चु (Machu Picchu of Peru)

machi picchu of peru duniya ke saat ajube

ख़ूबसूरती की मिसाल माचु पिच्चु एक ऐतिहासिक स्थल है जो दक्षिण अमेरिकी देश पेरू में स्थित है इसको ‘इंकाओं का खोया शहर’ नाम से भी जाना जाता है ये एक चौंका देने वाला स्थल है क्यूंकि इसी ऊंचाई 2430 मीटर है अब आप सोंचने लगे होंगे की आखिर इतनी ऊचाई पर लोग कैसे रह लेते हैं ये स्थल उत्तर पश्चिम में कुज़्को से 80 किलोमीटर (50 मील) दूरी पर स्थित है। बताया जाता है की इसका निर्माण 1430 ई के आसपास हुआ था। माचु पिच्चु का निर्माण इंकाओं की पुरातन शैली में हुआ था उस समय स्पेनियों ने इंकाओं पर जीत हासिल की थी फिर भी इस स्थल को नहीं लूटा था क्यूंकि ये एक पवित्र स्थल है।

6. कोलोसियम (Colosseum)

Colosseum Rome Italy

कोलोसियम विश्व की सबसे प्राचीन वास्तुकलाओं में से एक है ये इटली देश के रोम नगर के मध्य निर्मित स्टेडियम है बताया जाता है की प्राचीन काल में वहां पर खेलकूद, जानवरों की लड़ाई, सांस्कृतिक कार्यक्रम हुआ करते थे इसका निर्माण करीबन 70वीं ई को तत्कालीन शाशक वेस्पियन द्वारा शुरू किया गया था जो इसको पूरा नहीं बना पाए इसलिए सम्राट टाइटस ने 80वीं ई तक इसको बनाकर पूरा कर दिया था। कोलोसियम को कंक्रीट और रेत के द्वारा बनाया गया है ये एक बहुत ही विशाल स्टेडियम है वैसे तोह भूकंप और प्राकृतिक आपदाएं आने की वजह से ये कुछ नष्ट हो चूका है लेकिन इसकी विशालता अभी भी बरकरार है बताया जाता है की इस स्टेडियम में पुराने समय में लगभग 50 हज़ार से ज्यादा लोग एक साथ बैठा करते थे।

7. चिचेन इट्ज़ा (Chichen Itza)

chichen itza image

चिचेन इट्ज़ा एक बहुत ही प्राचीन और विश्व प्रसिद्ध मंदिर है जो मेक्सिको में स्थित है ये मंदिर करीबन 5 किलोमीटर के दायरे में फैला हुआ है इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं की ये कितना बड़ा होगा। चिचेन इट्ज़ा का निर्माण 600 ईसा पूर्व में हुआ था। बताया जाता है की ये मंदिर पिरामिड की आकृति का है इसकी ऊँचाई करीब 79 फिट है इस मंदिर की चारों दिशाओं में सीढ़ियां बनायीं गयी हैं जिनपर चढ़कर लोग मंदिर के ऊपर पहुचंते हैं हर दिशा में 91 सीढ़ियां बनी हुई हैं। जब भी सूर्य उदय या अस्त होता है तोह यहाँ का नज़ारा देखने लायक होता है इस समय यहाँ पर उत्तर की सीढ़ी के पश्चिम में एक पंखदार सर्प की छाया निर्मित होती है।

तोह दोस्तों ये थे विश्व यानी दुनिया के सात अजूबे हमारे लिए बहुत ही गर्व की बात है की हमारे भारत देश का ताजमहल भी दुनिया के सात अजूबे में शामिल हैं।

निष्कर्ष

आशा करता हूँ आपको आजका ये लेख दुनिया के सात अजूबे पसंद आया होगा क्या आप इनमे से किसी जगह पर घूमने के लिए गए हैं अगर गए हैं तोह नीचे कमेंट में उस जगह का नाम लिखें और बताएं की आपको वह प्लेस कैसे लगा।

दोस्तों Seven Wonders of the World in Hindi के बारे में अक्सर एग्जाम में पूछ लिया जाता है इसलिए हमे इनको अच्छे से याद कर लेना चाहिए।

ये भी पढ़ें >

बहुत से लोग ऐसे हैं जिनको Seven Wonders Name in Hindi के बारे में कुछ भी पता नहीं है इसलिए आपसे निवेदन करता हूँ की इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि और लोग भी इस जानकारी को पढ़ सकें।

Share This Post On
Hindi Me Jankari

Leave a Comment

1 Share
Copy link
Powered by Social Snap